नमस्कार दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं UPI full form in hindiUPI full form के साथ-साथ अगर आप यूपीआई क्या है नहीं जानते हैं तो इस टॉपिक को भी हम इस पोस्ट में कवर करने वाले हैं जिनसे आप जान जाएंगे कि upi ka full form in hindi और UPI kya hota hai

जिस तरीके से समाज के लोगों में नए-नए चीजों की जानने की इच्छा होती जा रही है उसी प्रकार लोग नए नए तरीके से भुगतान करने के तरीके ढूंढते हैं। बाकी देश digital होता जा रहा है, उसी तरह से हमारा भारत भी डिजिटल होते जा रहा है और यहां पर बहुत से लोग ऑनलाइन खरीदारी करते हैं और डिजिटल तरीके से भुगतान करते हैं।

आज से लगभग पांच-छह साल पहले लोग Online दुनिया से ज्यादा परिचित नहीं थे और ऑनलाइन लेनदेन करने से पीछे हटते थे ऐसा इसलिए क्योंकि उसे लगता था कि हमारा पैसा हमारे अकाउंट से खाली हो जाएगा और हमें भारी नुकसान हो सकता है इसलिए लोग digital तरीके से लेन देन करना नहीं चाहते थे।

अभी के दौर में भी बहुत से लोगों को यह पता नहीं है कि डिजिटल तरीके से पेमेंट कैसे करते हैं और यह UPI का नाम हम हर बाजार एवं स्टोर पर देखते हैं आखिर UPI क्या है और यूपीआई का फुल फॉर्म क्या है जानने लग जाते हैं इसलिए मैंने सोचा कि आज के इस पोस्ट में हम आपको यूपीआई से जुड़ी है जितने भी जानकारी है उनको बारीकी से आपको बताएं।

आज से पिछले 6 साल पहले माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी ने भारत में नोटबंदी का ऐलान किया था और नोटबंदी भी हुआ था ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि काला धन लोगों के पास बहुत हो गया था जिस कारण से है उसे नोटबंदी करना पड़ा। इस परिस्थिति में लोगों के पास जो पुराने पैसे थे वह मार्केट में नहीं चलते थे।

जो 2000 और 500 के नोट लांच हुए थे वह उस समय लोगों को जल्दी नहीं मिलता था जिस कारण से काफी परेशान हो जाते थे। इसमें से वह भी लोग थे जिनके पास बैंक अकाउंट थे और वह डिजिटल तरीके से पेमेंट करते थे तो उन लोगों को कोई दिक्कत नहीं हुआ करता था। लेकिन उसी समय से यूपीआई से पेमेंट करने का तरीका काफी प्रचलित हो गया।

और आज के समय में लोग यूपीआई के जरिए हैं हर चीज का भुगतान करता है। इस तरीके से आज के दौर में हमें पैसों को रखने के लिए पर्स नहीं रखना होता है अगर हमारे पास एक स्मार्टफोन है और उसमें सभी पेमेंट का तरीका सेटअप है तो पैसे रखने की कोई बात नहीं आपके पास मोबाइल है तो आपका पैसा मोबाइल में ही है और आप कहीं से भी खरीददारी मोबाइल के जरिए कर सकते हैं।

आज के समय में बहुत से ऐसे ऐसे एप्लीकेशन लॉन्च हो गए हैं जिनकी मदद से आप डिजिटल तरीके से पेमेंट कर सकते हैं। जितने भी डिजिटल तरीके से पेमेंट करने वाले ऐप लांच हुए हैं उसमें पैसे ट्रांसफर करने के लिए आपके पास यूपीआई होना जरूरी होता है तभी आप लेन देन कर सकते हो।

जब हर डिजिटल तरीके पेमेंट करने वाले ऐप में यूपीआई आईडी का जरूरत होता है तब हम सोचने लग जाते हैं कि आखिर या यूपीआई क्या है और यूपीआई का फुल फॉर्म क्या होता है जिसके बिना हम ऑनलाइन लेन-देन नहीं कर सकते हैं।

तो इसलिए आज के इस पोस्ट में आप भी जानना चाहते होंगे कि UPI क्या है UPI full form in hindi तो इसके बारे में हम आपको पूरी जानकारी देंगे इसके साथ-साथ जितने भी पेमेंट करने के तरीके होते हैं हम कैसे किए जाते हैं ऑनलाइन पेमेंट यूपीआई के जरिए यह पूरा प्रोसेस में आपको बताऊंगा तो चलिए जानते हैं यूपीआई फुल फॉर्म इन हिंदी के बारे में।

यूपीआई फुल फॉर्म इन हिंदी.

upi full form in hindi

यूपीआई फुल फॉर्म इन हिंदी

upi full form in hindiupi ka full form इंग्लिश में ,,Unified Payments Interface,, होता है और हिंदी में यूपीआई का फुल फॉर्म ,,एकीकृत भुगतान इंटरफ़ेस,, होता है।

एक छोटे से फुल फॉर्म वाले शब्द में बहुत ही बड़ा राज और जानकारी छुपा होता है जिसे जानना आपके लिए बहुत जरूरी है। यह जो मैंने UPI full form हिनदी और इंग्लिश में बताया उसका मतलब एक ही होता है। अगर आप upi ka full form को इंग्लिश को हिंदी में ट्रांसलेट करोगे तो वह हिंदी शब्द बन जाएगा और उसका मतलब वही रहेगा।

तो दोस्तों आपने ऊपर upi ka full form तो जान लिया है लेकिन आपने यह नहीं जाना है कि यूपीआई क्या है और यूपीआई का इस्तेमाल कहां और किस लिए किया जाता है। तो चलिए हम इसके बारे में आपको विस्तार से बताते हैं कि यूपीआई फुल फॉर्म के साथ-साथ UPI kya hota hai.

UPI क्या है.

UPI kya hai – UPI एक ऐसा साधन है जिसकी मदद से आप ऑनलाइन डिजिटल तरीके से लेनदेन कर सकते हो। अपने बैंक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में डिजिटल तरीके से पैसे ट्रांसफर करने के लिए, दूसरे के UPI या फिर अकाउंट नंबर की सहायता से आप दोस्त या रिश्तेदारों के अकाउंट में 1 सेकंड में लाखों रुपए भेज सकते हो।

UPI की मदद से आप दूसरे के अकाउंट से अपने अकाउंट में पैसे ले सकते हो इसके अलावा आप इसकी मदद से डिजिटल तरीके से shopping कर सकते हो। और साथ ही आप बिजली बिल डीटीएच रिचार्ज मोबाइल रिचार्ज मूवी टिकट के साथ-साथ आप अपने स्थानीय बाजारों में भी इसका इस्तेमाल करके सामान को खरीद कर सकते हैं।

अब दोस्तों आपके मन में सवाल आता होगा कि आखिर यूपीआई से भुगतान करने का तरीका कब लागू हुआ ? दोस्तों यूपीआई की शुरुआत 2015 में की गई थी आज से 7 साल पहले और भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा इसकी शुरुआत की गई थी। अगर हम इसे इंग्लिश में बोले तो National Payments Corporation of India (NPCI) होता है।

जब आप लोग अपने बैंक से किसी को भुगतान करते हैं या किसी से भुगतान लेने वाले हैं तो उसके लिए आपको account number और IFSC code कोड की जरूरत पड़ती है लेकिन वही UPI से पेमेंट करने पर किसी भी तरह के कोर्ट की जरूरत नहीं पड़ती है।

UPI की शुरुआत इसलिए की गई है क्योंकि लोग डिजिटल तरीके से लेनदेन कर पाए और उसे किसी झंझट का सामना ना करना पड़े। UPI की मदद से आप मिनटों के काम को सेकंड में कर सकते हैं।

जब पहली बार हमारे भारत में UPI की शुरुआत हुई थी तो लोग उस समय ज्यादातर ऑनलाइन लेनदेन यानी कि डिजिटल तरीके से लेनदेन करने पर विश्वास नहीं रखते थे उन्हें भरोसा ही नहीं होता था कि हम digital तरीके से लेनदेन कर सकते हैं।

लेकिन उसी समय जब नोटबंदी किया गया और जब लोगों को पैसों की दिक्कत हो गई तब मजबूरन लोग इस तरीके से पेमेंट करना शुरू कर दिया. और उस समय से लेकर आज के समय में digital लेनदेन यानी कि यूपीआई के माध्यम से लोग लेनदेन करना शुरू कर दिए हैं और इन पर काफी ज्यादा भरोसा किया जाता है।

तो ऊपर की जानकारी को आप पढ़ने के बाद समझ गए होंगे UPI क्या होता है और UPI की शुरुआत कब हुई थी हमारे भारत में। जैसा कि मैंने ऊपर कहा था कि यूपीआई के बारे में हम बारीकी से जानेंगे अब हम जानेंगे नीचे UPI ID क्या होता है।

UPI ID क्या है.

ऊपर तो हमने जाना कि UPI की शुरुआत कब हुई और UPI से payment लोग क्यों करना शुरू कर दिए हैं लेकिन अगर आप भी यूपीआई का इस्तेमाल करने वाले हैं और यूपीआई की मदद से लेनदेन करने वाले हैं digital तरीके से तो आपको जरूर जाना चाहिए कि UPI ID क्या होता है।

आपको पता होगा कि जब हम किसी के अकाउंट में पैसे भेजते हैं तो जिस आदमी के अकाउंट में पैसे भेजेंगे उस आदमी का

Account number और IFSC code और उसका नाम होना बहुत जरूरी होता है तभी हम पेमेंट भेज सकते हैं उसी प्रकार UPI से पेमेंट भेजने के लिए आपके पास UPI id होना बहुत जरूरी होता है।

अगर आप digital तरीके से payment करना चाहते हैं तो आपके पास UPI ID होना चाहिए और यूपीआई आईडी आपके पास होना चाहिए। Paytm और अन्य डिजिटल तरीके से payment करने वाले app में account बनाएंगे तो वहां आप आसानी से UPI ID बना सकते हैं।

UPI id बहुत बड़ा नहीं होता है या 8 या 10 number और words के होते हैं और जिस जिस आदमी के पास UPI ID होता है सभी का अलग अलग होता है यानी कि सभी के पास एक यूनिक यूपीआई आईडी होता है जैसे बैंक में अलग-अलग अकाउंट संख्या होता है।

मान लीजिए अगर आपके पास कोई UPI ID है और आपका मन कर रहा है कि हम उस UPI आईडी को बदल दें तो आप अपने मोबाइल फोन से 1 सेकेंड के अंदर उसे बदल सकते हैं आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है।

आजकल internet पर ऐसे बहुत से application है जहां पर आप आसानी से डिजिटल तरीके से लेनदेन करने का अकाउंट बना सकते हैं उसी के साथ साथ जिस एप्लीकेशन में यह अकाउंट बनाते हैं वह एप्लीकेशन आपको एक यूनीक यूपीआई आईडी देता है जिसकी मदद से आप लेनदेन कर सकते हो।

ऊपर तो हमने आपको बताया कि यूपीआई आईडी से हम ऑनलाइन लेनदेन कर सकते हैं और यह कैसा होता है लेकिन अगर आपके मन में अभी भी है कि यूपीआई आईडी कैसा होता है तो मैं नीचे आपको एग्जांपल दे देता हूं यानी कि आप उदाहरण से समझ सकते हैं कि एक यूपीआईडी कैसा होता है।

UPI ID Example – [email protected],
916×××××[email protected]
916×××××[email protected]

तो ऊपर जो मैंने उदाहरण दिया है उसी तरह का UPI ID होता है तो ऊपर आपने जाना कि यूपी आईडी क्या होता है। यह सब जानने के बाद हम आपके मन में आ रहा होगा कि हम यूपीआई आईडी कैसे बना सकते हैं चलिए हम आपको यह भी बताते हैं।

यूपीआई आईडी बनाएं.

upi full form in hindi

यूपीआई फुल फॉर्म इन हिंदी

दोस्तों UPI full form ,,Unified Payments Interface,, होता है इन सभी बातों को जानने के बाद अब हम जानते हैं कि आप कैसे अपना यूपीआई आईडी बनाकर उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

जैसा कि मैंने आपको पर भी बताया है कि 2015 में जब UPI भुगतान के तरीके लांच हुए थे तब से बहुत ही ज्यादा application Market में लॉन्च हो चुके हैं जहां पर आप आसानी से अकाउंट बनाकर वहां पर अपना एक यूनिक UPI आईडी क्रिएट कर सकते हैं।

इंटरनेट पर तो बहुत है एप्लीकेशन मौजूद है UPI आईडी बनाने के लिए लेकिन आपको लग रहा होगा कि सभी में UPI आईडी बनाने का प्रोसेस अलग-अलग होगा लेकिन नहीं सब में एक ही समान तरीका होता है यूपीआई आईडी बनाने का।

तो चलिए हम आपको बताते हैं कि आप कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं UPI आईडी का और आप यूपीआई आईडी कैसे बना सकते हैं। हम आपको सबसे पॉपुलर यूपीआई आईडी बनाने का ऐप भीम ऐप के बारे में बताएंगे जहां से आप अपना यूपीआई आईडी बहुत ही आसानी से बना सकते हैं।

दोस्तों किसी भी प्रकार के अकाउंट को बनाने से पहले कुछ डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ती है तभी वह अकाउंट बनता है तो चलिए हम आपको बताते हैं एक यूपीआई आईडी बनाने के लिए आपको क्या क्या डॉक्युमेंट्स लगेंगे।

  • Pan card.
  • Bank account.
  • Mobile number link bank account.
  • Email id.
  • Atm card.
  • Pan card.

ऊपर बताए गए डाक्यूमेंट्स अगर आपके पास है तो आप बड़ी आसानी से अपना यूपीआई आईडी बना सकते हैं। आपके पास जो मोबाइल नंबर है वह आपके बैंक खाता से जुड़ा होना चाहिए साथ ही साथ पैन कार्ड और एटीएम कार्ड से भी जुड़ा होना चाहिए तभी आप अपना यूपीआई आईडी बना सकते हैं।

Step-1. सबसे पहले अपने मोबाइल फोन में भीम ऐप को डाउनलोड करें.

Step-2. भीम ऐप को अपने मोबाइल फोन में ओपन करें और अपना भाषा सेलेक्ट करें अगर आप हिंदी में जारी रखना चाहते हैं तो आप हिंदी सेलेक्ट करें.

Site-3. आप जिस फोन में यूपीआई आईडी बनाना चाहते हैं उसी फोन में भीम ऐप को डाउनलोड करें.

Step-4. अब भाषा सेलेक्ट करने के बाद आपको जिस सिम कार्ड पर भीम एप बनाना है वह सिलेक्ट करके फिर वेरीफाई करें.

Step-5. अब आपको एक ऑप्शन दिखेगा add bank account का और फिर अपना बैंक अकाउंट ऐड करें.

Step-6. बैंक अकाउंट ऐड करते समय आपको बैंक की वह सभी आवश्यक जानकारी देनी है.

Step-7. यूपीआई आईडी को सुरक्षित रखने के लिए आपसे एक यूपीआई पिन बनाने के लिए कहा जाएगा आप एक यूपीआई पिन बना लें.

Step-8. यूपीआई पिन आपको 4 अंक के बनाने हैं और यूपीआई पिन 4 अंक के ही होते हैं आपको ऐसा पिन बनाना है जिसे कोई ना जान पाए यह बस सीक्रेट ही रहे.

Step-9. यह सब करने के बाद आपका यूपीआई आईडी बनकर तैयार हो जाएगा।

ऊपर की जानकारियों को जाने के बाद आप जान गए होंगे कि आप कैसे अपना यूपीआई आईडी बना सकते हैं। यूपीआई आईडी बनाने के बाद आपने जो पिन बनाया है सुरक्षा के लिए उसे किसी के साथ साझा ना करें नहीं तो आपका अकाउंट खाली हो सकता है।

यूपीआई का इस्तेमाल करें.

अब दोस्तों जब हमने आपको यूपीआई आईडी बनाने का पूरा प्रोसेस बता दिया है और आपने यूपीआई आईडी बना भी लिया है तो अब बारी आती है कि आप कैसे यूपीआई का इस्तेमाल कर सकते हो दोस्तों UPI का इस्तेमाल करना बहुत ही साधारण बात है चलिए वह भी बताते हैं।

जब हम किसी को पैसे भेजेंगे तो उस समय आपसे एक कोर्ट पूछा जाएगा जो कि हमने ऊपर आपको बताया था कि यह कोड आपको सिक्योरिटी के लिए बनाना है वही सिक्योरिटी कोड आपसे पूछा जाएगा वह को डालने के बाद आप आसानी से किसी भी आदमी को पेमेंट कर सकते हो।

UPI पिन का फीचर्स इसलिए दिया गया है की कोई भी अनजान व्यक्ति आपके खाते से पैसे ना निकाल पाए अगर आपका मोबाइल कहीं गुम हो गया है और किसी ऐसे व्यक्ति के हाथ में लग गया है जो किसी का भी अकाउंट खाली कर सकता है उस व्यक्ति को अगर आपके UPI पिन का पता होगा तो वह जरूर आपके अकाउंट से पैसे निकाल लेगा।

दोस्तों अगर आप भीम ऐप के जरिए UPI से किसी को पेमेंट करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपना मोबाइल फोन में भीम एप्लीकेशन को ओपन करना है ओपन करने के बाद आपको वह पासवर्ड डालना है जिसे आपने सिक्योरिटी के लिए बनाया था।

सिक्योरिटी कोड डालने के बाद आपका भीम ऐप ओपन होगा अगर सिक्योरिटी ऐप गलत होगा तो भीम ऐप ओपन नहीं होगा।

सिक्योरिटी कोड डालने के बाद सफलतापूर्वक भी मैं आपको ओपन करने के बाद आपके सामने भीम एप का इंटरफेस खुल जाएगा जिसमें की राइट साइड में आपको ऊपर में दो ऑप्शन देखने को मिलेंगे पहला, send or scan का।

अगर किसी व्यक्ति को भीम ऐप के जरिए यूपीआई से पेमेंट करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको सेंड वाले बटन पर क्लिक करना है और उस व्यक्ति का यूपीआई आईडी डालना है और आपको जितना रुपए ट्रांसफर करना है वहां पर अमाउंट लिख कर आप सेंड कर सकते हैं।

scan वाले ऑप्शन में बिल्कुल वही तरीका है अगर आप कहीं बाजार में किसी दुकान से खरीददारी करते हो तो उस दुकान के सामने में आपने एक QR code जरूर देखा हुआ। आप किसी भी दुकान से सामान खरीद कर उसे स्कैन वाले ऑप्शन से QR code को स्कैन करके दुकानदार को पैसे दे सकते हो।

हम आपसे यही कहेंगे अगर आपको सामने वाले व्यक्ति को पैसे भेजने हैं तो आप QR code का इस्तेमाल करें और कहीं दूर पैसे भेजने हैं तो आप send वाले ऑप्शन से पैसे भेजे हैं।

भीम ऐप में आपको एक और ऑप्शन देखने को मिलेंगे contact and account number का। आप इस तरीके से भी किसी व्यक्ति को पैसे भेज सकते हैं इसके लिए आपको वह व्यक्ति को चुना है जो व्यक्ति भीम ऐप को इस्तेमाल करते हैं और उसके नंबर को सेलेक्ट करने के बाद आप उसे आसानी से यूपीआई की मदद से पैसे भेज सकते हैं।

अगर आप किसी के बैंक अकाउंट में डायरेक्ट पैसे ट्रांसफर करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड यह दोनों चीज के साथ-साथ आपको बैंक अकाउंट होल्डर का नाम भेज देना होगा आज के बाद आप आसानी से सामने वाले व्यक्ति को बैंक में पैसे भेज सकते हो।

तो ऊपर बताए गए प्रोसेस को फॉलो करते हुए आप आसानी से किसी भी दुकानदार या रिश्तेदार को पैसे आसानी से सेकंड में भेज सकते हो।

और एक बात आपसे कहना चाहूंगा कि जब आप कहीं मार्केट में जब किसी दुकानदार को पैसे दे रहे हो तो कोई आदमी को दिखाते हुए पिन को एंटर ना करें बाकी आप समझदार हैं।

इन सभी चीजों में आपको एक यूपीआई पिन की जरूरत पड़ेगी इसलिए मैं आपसे यही कहना चाहूंगा कि आप एक यूपीआई पिन बहुत ही मजबूत बनाएं और उसे अपने मन में ही रखें इसे किसी को ना बताएं।

हो सकता है आगे जाकर कोई आपके यूपीआई पिन जान लेता है तो आप अपने मोबाइल फोन से 10 सेकंड में उस दिन को चेंज कर सकते हो।

इसलिए आप समय-समय पर चेक करते रहे कि आपके यूपीआई पिन किसी को पता तो नहीं चला रहे और उसे बार-बार बदले इससे यह होगा कि अगर आपका मोबाइल फोन कहीं गिर जाता है तो आपके अकाउंट में जो पैसे हैं वह कोई दूसरा व्यक्ति नहीं निकाल पाएगा।

तो यहां तक आपने जाना UPI full form in hindi के बारे में।

UPI ID के फायदे क्या है.यूपीआई फुल फॉर्म इन हिंदी

दोस्तों पर तो हमने आपको बताया कि आप बहुत से तरीके से यूपीआई से लोगों को पेमेंट कर सकते हो लेकिन इन सभी को करने के बाद आप सोच रहे होंगे कि यूपीआई का इस्तेमाल करने के क्या-क्या फायदे होते हैं चलिए हम वह भी आपको नीचे स्टेप बाय स्टेप बता देते हैं।

यूपीआई का पहला फायदा यह है कि आपको बैंक खुले और ना खुले रहने से कोई मतलब नहीं रहता है इसलिए नहीं रहता है इसमें कि आज सब कंट्रोल आपके हाथ में होता है और अब जब जाएं तब किसी को भी पेमेंट कर सकते हो।

यूपीआई आईडी की खास बात यह है कि आप दिन के 24 घंटे में जब भी आपका मन करे तब आप किसी को भी पैसे भेज सकते हैं कोई लिमिट नहीं है कि आप कितने व्यक्ति को पैसे 1 दिन में भेज सकते हो।

इस तरीके के जरिए आप अपने अकाउंट पर आसानी से नजर रख पाते हैं और यह बिल्कुल सुरक्षित है और काफी आसान है और इस काम को कोई भी व्यक्ति कर सकता है इसलिए हम यूपीआई भुगतान को बहुत अच्छा मानते हैं।

किसी व्यक्ति को पैसे ट्रांसफर करने के लिए आपको ज्यादा मशक्कत करने की कोई जरूरत नहीं है जैसे किसी के अकाउंट में पैसे भेजने होते हैं तो वह हम पहले बैंक अकाउंट में जाते हैं और वहां से ट्रांसफर करते हैं लेकिन हम यूपीआई की मदद से अपने मोबाइल फोन से तुरंत कर सकते हैं।

यूपीआई भुगतान के तरीके से आप जिस आदमी को भुगतान करेंगे वह भुगतान सिर्फ और सिर्फ वही आदमी को जाएगा जिससे आपने भेजा है।

इसके जरिए आप अपने घर के सभी बिल को ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हो जैसे कि अगर आप बिजली बिल डीटीएच रिचार्ज मोबाइल रिचार्ज जैसे अन्य कामों को करना चाहते हैं तो इस एप्लीकेशन और इस यूपीआई भुगतान के जरिए आप आसानी से कर सकते हैं।

यह तो हमने मोटा मोटी आपको बताया कि यूपीआई आईडी का क्या क्या फायदा होता है लेकिन जब आप यूपीआई आईडी का इस्तेमाल करने लग जाएंगे तो आपको खुद ब खुद पता चल जाएगा कि यूपीआई आईडी का कितना फायदा होता है इस्तेमाल करने के बाद। लेकिन सभी चीज में नुकसान होता है अगर इसमें ध्यान से पेमेंट नहीं करते हो तो आपको भारी नुकसान भी हो सकता है।

UPI id किस-किस बेंक में बना सकते हैं.

UPI भुगतान के तरीके को सभी लोग सही मानते हैं और आजकल बहुत से बैंक ऐसे हैं जो आपको UPI आईडी बनाने का अवसर प्रदान करता है अगर आपको नहीं पता वह कौन कौन से बैंक हैं हम जहां UPI आईडी बना सकते हैं तो आप नीचे पड़ सकते हैं उनका लिस्ट मैंने नीचे दिया है।

UPI Bank Name UPI App Name
Andhra Bank BHIM Andhra Bank ONE
Axis Bank BHIM Axis Pay
Bank of Baroda BHIM Baroda Pay
Bank of India BHIM BOI UPI
Bank of Maharashtra BHIM Maha UPI
Canara Bank BHIM Canara – eMPower
Central Bank of India BHIM Cent UPI
HDFC Bank HDFC Bank MobileBanking
HSBC HSBC Simple Pay
ICICI Bank iMobile
IDBI Bank BHIM PAyWIZ by IDBI Bank
Jammu and Kashmir Bank BHIM JK Bank UPI
Karur Vysya Bank BHIM KVB Pay
Kotak Mahindra Bank BHIM Kotak Pay
Oriental Bank of Commerce BHIM Oriental Pay
Punjab National Bank BHIM PNB
State Bank of India SBI  Pay
Union Bank of India BHIM Union Bank UPI App
United Bank of India BHIM United UPI Pay
Yes Bank BHIM Yes Pay

ऊपर बताए गए बैंक के अलावा भी और भी बैंक है जो कि UPI आईडी बनाने का साधन देता है फिलहाल आप जरूरत के अनुसार काम करें।

UPI id पिन क्या है.

जब हम अपने घर से कहीं दूर घूमने के लिए जाते हैं तब हम अपने घर में ताला लगा देते हैं और उस ताले को लॉक करने के लिए हमारे पास एक चाबी होनी चाहिए जिससे कि ताला लॉक भी हो जाए और साथ में खुल भी जाए। इससे हमारी घर की सुरक्षा बनी रहती है।

इसी प्रकार से UPI आईडी को सुरक्षित रखने के लिए यूपीआई पिन की जरूरत पड़ती आपने देखा होगा कि जब आप एटीएम से पैसे निकालने जाते हैं तो उसमें सिक्योरिटी कोड लगा रहता है जब आप एटीएम को एटीएम मशीन में डालते हैं तब आपसे सिक्योरिटी पिन पूछा जाता है उस दिन को डालने के बाद ही आप पैसे निकाल सकते हैं।

इसी तरह यूपीआई को सुरक्षित रखने के लिए आपको एक यूपीआई पिन बनाना होता है और उस यूपीआई पिन के जरिए आप अपने खाते को सुरक्षित रख सकते हैं। यह पिन ताला और चाबी की तरह काम करता है।

एटीएम और यूपीआई पिन 4 या 6 अंक के होते हैं। और आपके यूपीआई आईडी पिन सिर्फ आप जानते हो इसलिए सिर्फ आप ही अपने यूपीआई से पैसे निकाल सकते हो कोई दूसरा आदमी इससे पैसे नहीं निकाल सकता है बगैर यूपीआई पिन के।

Net banking और UPI में अंतर.

आपको पता है कि नेट बैंकिंग से भी ऑनलाइन डिजिटल तरीके से हम लेनदेन कर सकते हैं फिर यह यूपीआई किस काम के लिए लांच हुआ है जबकि हमारे पास पहले से ही डिजिटल तरीके से लेनदेन करने वाला तरीका उपलब्ध है ? तो चलिए हम आपके इस सवाल का भी जवाब थोड़ी विस्तार से देते हैं।

ऊपर जो हमने बताया यूपीआई के बारे में उसने आपको पता चल गया होगा यूपीआई से ऑनलाइन लेनदेन किया जाता है और आप यूपीआई के जरिए किसी आदमी के अकाउंट में पैसे भेजते हो तो उसी समय जब आप भेजते हो उसी समय उसके अकाउंट में पैसे चले जाते हैं।

आपने UPI full form के अलावा UPI imps कभी नाम सुना होगा और इस का फुल फॉर्म होता है Immediate Payment Service System.

जब हम कहीं दूर शहर या राज्य में जाते हैं तो उस शहर या राज्य में जाने के लिए दो या तीन रास्ते जरूर होते हैं लेकिन उन रास्तों में फर्क भी होता है उसी प्रकार नेट बैंकिंग और यूपीआई में भी फर्क है अगर आपको नेट बैंकिंग और यूपीआई का फर्क जानना है तो नीचे भी पढ़ें।

UPI id और Net banking.

यूपीआई के जरिए हम बिना बैंक अकाउंट के और आईएफएससी कोड के बिना भी हम पेमेंट को ऑनलाइन तुरंत भेज सकते हैं जबकि हम नेट बैंकिंग में पैसे भेजने के लिए बैंक के सारे डिटेल भरने होते हैं तभी हम पैसे भेज सकते हैं।

यूपीआई आईडी से भेजे गए पैसे तुरंत पहुंच जाते हैं लेकिन वही नेट बैंकिंग से भेजे गए पैसे खाते में पहुंचने में एक या 2 घंटे लगते हैं।

यूपीआई भुगतान के तरीके काफी त्वरित तरीके से काम करता है और वही नेट बैंकिंग थोड़ा धीरे-धीरे काम करता है लेकिन पूरा काम करता है।

यूपीआई का इंटरफेस समझना काफी आसान है और इससे तुरंत पैसे भेज सकते हैं वही हमें नेट बैंकिंग से पैसे भेजने के लिए नेट बैंकिंग को समझना होता है।

यूपीआई में लिमिट होती है यूपीआई में आप एक बार में ₹100000 तक ही पैसे भेज सकते हैं जबकि नेट बैंकिंग में ऐसा नहीं है नेट बैंकिंग में आप अनलिमिटेड पैसे भेज सकते हैं।

यूपीआई में अगर आप पहली बार एक बार में ₹100000 से ज्यादा का पेमेंट करते हो तो आपको उसमें लिमिट लग जाएगा लिमिट लगने के बाद आपको 50 पैसे प्रत्येक ट्रांजैक्शन पर देने होते हैं। लेकिन यह चार्ज बहुत कम है और आप बिना झिझक के यूपीआई से पेमेंट कर सकते हैं।

वहीं अगर आप 200000 या ₹500000 भेजना चाहते हैं तो आप नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करें यहां आपको कोई लिमिट नहीं रहेगा और ना ही कोई चार्ज रहेगा।

अक्सर हमारे साथ होता यह है कि जब हम किसी आदमी को बैंक अकाउंट में पैसे भेजते हैं तो उस समय उस आदमी का नाम रहता है जबकि पैसे भेजने के लिए हमें बैंक अकाउंट नंबर के साथ-साथ आईएफएससी कोड की भी जरूरत पड़ती है जिसे याद रखना मुश्किल है।

लेकिन यूपीआई में यह नहीं होता है यहां पर आपको बहुत ही कम शब्द के कोड मिलते हैं उस कोड को डालने के बाद आप आसानी से पैसे भेज सकते हैं।

UPI ID उपयोग करते समय ध्यान दें.

पैसे की लेनदेन करते समय हमें कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है और हम उन बातों पर ध्यान दे देते हैं इसी प्रकार यूपीआई भुगतान करते समय आपको कुछ बातों पर ध्यान देना होता है। चलिए हम आपको नीचे वह भी बताते हैं कि आपको ईपीआई पेमेंट करते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

यूपीआई पिन हमेशा मजबूत रखें और इसे किसी के साथ शेयर ना करें इससे आपका अकाउंट खाली हो सकता है।

आपके मोबाइल फोन में जो भी सिम कार्ड है और उस सिम कार्ड पर यूपीआई अकाउंट बनाया हुआ है तो उस सिम कार्ड को किसी के मोबाइल फोन में लगाने के लिए ना दें।

आपके मोबाइल फोन में कोई भी ओटीपी आता है और कोई आदमी उसे मांगता है तो उसे ना दें इससे आपके यूपीआई अकाउंट का एक्सेस कोई दूसरा आदमी ले सकता है।

अपने बैंक से जुड़े पर्सनल डिटेल किसी के साथ शेयर ना करें अगर आपसे कोई बैंक डिटेल या फिर ओटीपी मांगता है तो आप डायरेक्ट बैंक से संपर्क करें और उससे पूछें।

आजकल के सभी डिजिटल पेमेंट्स करने वाले एप्लीकेशन में पेमेंट रिक्वेस्ट का ऑप्शन होता है उस ऑप्शन के जरिए बहुत से लोग फ्रॉड करके लोगों से पैसे वसूली कर लेते हैं कृपया इन बातों पर भी ध्यान दें।

तो हम जो पर बताएं आपको क्या-क्या यूपीआई इस्तेमाल करते समय किन किन बातों पर ध्यान देना चाहिए इन बातों को आप को अपने दोस्तों को भी बताना है ताकि वह भी सुरक्षित रहे और आप भी सुरक्षित रहें.

UPI full form in hindi.

दोस्तों अगर आप UPI full form in hindi को वीडियो में देखना चाहते हैं तो नीचे की यूट्यूब वीडियो है आप उसे पूरा देखें।

FAQ. UPI full form in hindi.

UPI full form

यूपीआई फुल फॉर्म

यूपीआई फुल फॉर्म जानने के बाद और यूपीआई क्या है जानने के बाद आपके मन में कुछ सवाल आते होंगे। और जो आपके मन में सवाल आते होंगे वह नीचे कुछ इस प्रकार हैं चलिए यूपीआई फुल फॉर्म से जुड़े आपके सवालों का जवाब देते हैं।

Q. यूपीआई नंबर कैसे पता करें?

अगर आप अपने यूपीआई नंबर पता करना चाहते हैं तो आप आसानी से कर सकते हैं इसके लिए आपको निम्न चीजों को फॉलो करना है।1

  1. यूपीआई इस्तेमाल करने के लिए आप जिस app कर रहे हैं उसे ओपन करें.
  2. अपने प्रोफाइल पिक्चर पर क्लिक करें.
  3. बैंक अकाउंट पर क्लिक करें.
  4. उसके बाद आप का यूपीआई नंबर दिख जाएगा।

Q. यूपीआई कैसे काम करता है?

यूपीआई के द्वारा हम एक बैंक से दूसरे बैंक में एक सेकंड में तुरंत पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। यूपीआई का इस्तेमाल से हम बिना बैंक अकाउंट डिटेल भरें ही दूसरे अकाउंट में पैसे तुरंत ट्रांसफर कर सकते हैं और यह तरीका तेज और त्वरित है।

Q. यूपीआई पेमेंट कैसे करते हैं?

जिस किसी भी यूपीआई भुगतान करने के लिए ऐप इस्तेमाल कर रहे हैं उस एप के राइट साइड में आपको ऊपर में दो ऑप्शन देखने को मिलेंगे पहला, send or scan का। अगर किसी व्यक्ति को भीम ऐप के जरिए यूपीआई से पेमेंट करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको सेंड वाले बटन पर क्लिक करना है और उस व्यक्ति का यूपीआई आईडी डालना है और आपको जितना रुपए ट्रांसफर करना है वहां पर अमाउंट लिख कर आप सेंड कर सकते हैं।

Q. UPI pin क्या है?

यूपीआई को सुरक्षित रखने के लिए आपको एक यूपीआई पिन बनाना होता है और उस यूपीआई पिन के जरिए आप अपने खाते को सुरक्षित रख सकते हैं। यह पिन ताला और चाबी की तरह काम करता है। एटीएम और यूपीआई पिन 4 या 6 अंक के होते हैं। और आपके यूपीआई आईडी पिन सिर्फ आप जानते हो इसलिए सिर्फ आप ही अपने यूपीआई से पैसे निकाल सकते हो कोई दूसरा आदमी इससे पैसे नहीं निकाल सकता है बगैर यूपीआई पिन के।

ये भी पढ़ें:- 

निष्कर्ष:-

तो दोस्तों हम आपसे उम्मीद करते हैं कि हमारा यह आर्टिकल upi full form in hindi  आपको पसंद आया होगा और इस आर्टिकल upi ka full form in hindi से आपको बहुत कुछ यूपीआई के बारे में जानने को मिला होगा।

दोस्तों अगर आपको UPI full form से कुछ नया जानने को मिला है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और साथ ही साथ आपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे कि फेसबुक व्हाट्सएप पर जरूर शेयर करें ताकि से ज्यादा से ज्यादा लोग जान पाए कि यूपीआई फुल फॉर्म क्या होता है।

और आपका कोई सवाल हो तो उसे अपने कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं नीचे कमेंट बॉक्स है आप आसान से कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं हम उसका जवाब तुरंत देंगे।


Abhishek Kumar

नमस्कार, मेरा नाम अभिषेक है. और में digital marketing करता हूं. मुझे internet जैसे digital चीजों में रूचि है इसलिए ये cloudhindi.com ब्लाग बनाया. मुझे जो भी नई जानकारी मिलती है में इस blog के जरिए unique information आप लोगों को बताता हूं. हमारा information आपको पसंद आते हैं तो हमें सोशल मीडिया पर फॉलो जरूर करें।

0 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!