क्या आप जानना चाहते हैं NGO kya hai, NGO Full Form in Hindi तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं यहां मैं आपको NGO Full Form in Hindi एवं NGO kya hai, NGO कैसे काम करता है इन सभी चीजों के बारे में विस्तार से आपको हम बताएंगे.

दोस्तों NGO का संबंध गैर सरकारी संगठन से है NGO संगठन सरकार का हिस्सा नहीं है और ना ही यह कोई बिजनेस है. एनजीओ एक गैर लाभकारी व्यवसाय है एनजीओ असहाय लोगों की मदद करता है जैसे, अनाथ बच्चे, बुजुर्ग, पर्यावरण, ऐसे बहुत से समस्या है जिनको एनजीओ मिलकर उस समस्या का हल करते हैं.

ऐसे में आप भी उत्सुक होंगे NGO के बारे में जानने के लिए इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे एनजीओ क्या है NGO kya hai, NGO Full Form in Hindi की जानकारी पूरे विस्तार तरीके से आपको बताने वाला हूं तो इसलिए इस पोस्ट को आराम से पढ़ते रहें.

NGO kya hai – एनजीओ क्या है.

हमारे देश भारत में ऐसे बहुत से शहर एवं गांव है जहां पर बेसहारे लोग एवं बच्चे मौजूद हैं. यह लोग गरीबी और उत्पीड़न का शिकार हुए बैठे हैं. और हमारा भारत जितना digital होते जा रहा है उतना ही देश के लोगों का इंसानियत खत्म होते जा रहा है इस प्रकार के लोग गरीब एवं असहाय बच्चे की मदद करने की बात तो दूर देखने का भी हिम्मत नहीं रखता है।

इन गरीब बच्चे एवं बेसहारे लोगों के लिए सबसे बड़ा मसीहा बनकर आता है NGO, यह एनजीओ किसी भगवान से कम नहीं होते हैं यह बेसहारे लोगों के लिए एक मसीहा बनकर आते हैं जो अपने स्वार्थ के लिए काम ना कर दूसरों के लिए पूरी जान लगा देते हैं.

दोस्तों हम एनजीओ क्या है, थोड़ा नीचे पढ़ेंगे लेकिन अभी हम एनजीओ फुल फॉर्म इन हिंदी के बारे में जान लेंगे तो आगे पोस्ट पढ़ने में आप लोगों को कोई समस्या नहीं आएगी इसलिए पहले हम जान लेते हैं एनजीओ फुल फॉर्म इन हिंदी.

NGO Full Form in Hindi.

NGO Full Form in Hindi – “Non Governmental Organization.

एनजीओ फुल फॉर्म इन हिंदी.

अगर हम एनजीओ फुल फॉर्म को हिंदी में कहें तो एनजीओ का फुल फॉर्म – गैर सरकारी संगठन होता है.

ऊपर आपने अभी NGO का Full Form जाना एवं अपने जाना NGO Full Form in Hindi. अब हम बात करते हैं एनजीओ क्या है और इसके बारे में हम पूरे विस्तार से जानकारी देते हैं।

Ngo kya hai video.

दोस्तों अगर आप इस पोस्ट को पुरा पढ़ना नहीं चाहते हैं तो नीचे का वीडियो देख सकते हैं. जो information post में है वहीं information video में भी है।

ये वीडियो, govt job genuine notification channel का हैै।

NGO kya hai.

तो ऊपर आपने अभी पढ़ लिया NGO meaning in hindi अब हम जानते हैं NGO के क्या काम होते हैं एवं NGO kya hai?.

NGO गैर सरकारी संगठन है और यह बिना लालच किए लोगों की सहायता करता है. एनजीओ एक निजी संगठन है.

एनजीओ गैर सरकारी संगठन से सरकार को कोई लेना देना नहीं है यानी कि सरकार की एनजीओ में कोई भी भूमिका नहीं है।

NGO का एक ही लक्ष्य होता है कि वह समाज के लिए अच्छा से अच्छा काम करें और लोगों की ज्यादा से ज्यादा सहायता कर पाए. NGO अगर कोई भी व्यक्ति चलाना चाहता है तो वह चला सकता है यह काम वह लोग कर सकते हैं जो समाज के लिए कल्याण करना चाहते हैं।

आपके के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर यह संस्था चलाने का शुरुआत कहां से हुई होगी तो दोस्तों सबसे पहले यह संस्था चलाने का शुरुआत अमेरिका से किया गया था।

अमेरिका में अभी भी सरकार के अलावा ऐसे बहुत सारे सामाजिक काम किए जाते हैं जिससे लोगों को काफी मदद मिलता है।इसीलिए हमारे देश में भी इस तरह का काम होना शुरू हो गया। अब बात आती है दोस्तों, ये संगठन कितने लोग से शुरू कर सकते हैं।

NGO कैसे काम करता है.NGO Full Form in Hindi

गैर सरकारी संगठन का काम विभिन्न प्रकार का होता है जैसे कि गरीब बच्चों को पढ़ाना ,महिलाओं को घर के साथ-साथ सारी सुख सुविधाएं देना, ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाने का काम करना ,महिलाओं की सुरक्षा का पूरी ध्यान रखना ,जहां पर जल की सुविधाएं नहीं है वहां पर जल की सुविधा देना,

अगर किसी गरीब के घर में कोई भी बीमारी हो उसमें अपनी तरफ से मदद करना. NGO का मुख्य मकसद है समाज सेवा करना ना कि उन्हें पैसे कमाना यह संस्था कुछ अलग संस्था देखने को मिलता है ।जिसमें निस्वार्थ सेवा करने का भाव रहता है ।

NGO एक ऐसा संस्था है जिसकी अधिक मांग विदेशों में भी है जैसे की

  • यूनिसेफ
  • विश्व स्वास्थ्य संस्था
  • एमनेस्टी इंटरनेशनल
  • रेड क्रॉस
  • ग्रीनपीस
  • कॉमनवेल्थ
  • यूनेस्को
  • यूनाइटेड नेशन
  • विश्व बैंक
  • नाटो
  • हुमन राइट एनवायरमेंट प्रोटक्शन

इन संस्थाओं के साथ मिलकर आप काम कर सकते हैं। अब आपको थोड़ा समझ आता होगा NGO kya hai.

NGO में जो व्यक्ति काम करना चाहते हैं वाह register करा कर काम कर सकते हैं या बिना registered कराकर भी लोगों की सहायता कर सकते हैं.

अगर आप register करके फिर NGO का काम करते हैं तो आपको इसमें government कुछ मदद कर सकती है. क्योंकि आप सामाजिक कार्य करते हैं लोगों के लिए काम करते हैं तो ऐसे में आपको सरकार कुछ ना कुछ मदद तो जरूर ही करेगी. अगर कोई आदमी बिना register कहां है NGO का काम करना चाहते हैं तो वह कर सकते हैं और इसमें आपकी सहायता private company भी कर सकते हैं।

हमारे भारत में एनजीओ के करीब 1 से 2 लाख NGO संस्थान होने का अनुमान लगाया जा रहा है. तो अभी आप ऊपर पढ़कर जान गए होंगे NGO kya y NGO Full Form in Hindi एवं NGO meaning in Hindi इन सभी के बारे में आप लोग जान गए होंगे आब जानते हैं हम NGO के कार्य के बारे में और भी बातें।

NGO के कार्य.NGO Full Form in Hindi

NGO क्या है NGO फुल फॉर्म इन हिंदी इन सभी को जानने के बाद आपको थोड़ा बहुत अंदाजा लग गया होगा कि एनजीओ किस लिए काम करते हैं एवं एनजीओ का काम क्या होता है इन सभी के बारे में आप थोड़ा बहुत जान गए होंगे लेकिन अभी हम आपको नीचे में थोड़ा विस्तार से बता देते हैं NGO के कार्य.

जैसा कि मैंने ऊपर भी बताया कि एनजीओ का काम गरीब और बेसहारा लोगों के लिए करता है लेकिन एनजीओ इन का ही नहीं मदद करता बल्कि जो शारीरिक रूप से विकलांग हैं जो अपने शरीर से चलने में असमर्थ हैं उन लोगों का भी मदद करता है.

NGO हमारे भारत देश में ही नहीं बल्कि और भी देश में हैं और यह विभिन्न तरह के समाज सेवा करते हैं. NGO संगठन हमेशा विकास की ओर बढ़ते रहते हैं।

एनजीओ का काम जरूरतमंद एवं जो शारीरिक रूप से विकलांग है उन लोगों की सहायता करते हैं एनजीओ इन लोगों को ढूंढ ही लेते हैं जिनको मदद की जरूरत है चाहे कैसे भी उसे ढूंढना क्यों ना हो. बेसहारे एवं लाचार लोगों हमारे आसपास ही दिख जाते हैं।

एनजीओ के कार्य आपको लिस्ट में नीचे बता रहा हूं जिनसे आप जान सकते हैं एनजीओ के क्या कार्य होते हैं।

NGO के कार्य.

  1.  गरीब लोगों की सहायता करना.
  2.  गरीब बच्चों को शिक्षा प्रदान करना.
  3.  जिनके घर नहीं उनको घर दिलाना.
  4.  पेड़ पौधे लगाना.
  5.  प्रदूषण नियंत्रण करने के लिए आगे बढ़ना.
  6.  आदिवासी लोगों की मदद करना.
  7.  बीमार व्यक्ति का इलाज कराना.

NGO kya hai, NGO Full Form in Hindi इन सब जानकारी पढ़ने के बाद आप एनजीओ के बारे में बहुत कुछ जान गए हैं अब जानते हैं Types Of NGO

ये भी पढ़ें:-

Types Of NGO.

अगर आप एनजीओ का काम शुरू करना चाहते हैं तो आपको एनजीओ के प्रकार के बारे में जानना बहुत जरूरी है तो चलिए आपको बताते हैं नीचे।

  • Bingo (Business Friendly International NGO)
  • Engo (Environmental NGO)
  • Gongo (Government-organized Non-governmental Organization)
  • Ingo (International NGO)
  • Quango (Quasi-autonomous NGO)

यह है ऊपर NGO के कार्य एवं इन सभी के काम अलग अलग तरह से होते हैं वह अलग अलग तरह से काम करते हैं।

NGO Kaise Banaye.

तो NGO kya hai, NGO Full Form in Hindi और इन से संबंधित और भी बातों को जानने के बाद अब हम जानते हैं NGO Kaise Banaye.

अगर कोई आदमी NGO बनना चाहता है तो उससे पहले NGO Kaise Banaye के बारे में उसे पूरी जानकारी ले लेना चाहिए क्योंकि सभी राज्य में एनजीओ बनने के लिए अलग-अलग नियम होते हैं।

कोई भी आदमी जो NGO में काम करना चाहता है तो उसे पहले उसे एनजीओ में सदस्यता लेना होगा. जब NGO का registration होता है तब जाकर जो आदमी एनजीओ बनना चाहता है वह registration करा के एनजीओ बन सकता है. लेकिन आपको team बनाकर registration कराने का यानी कि एक team में 7 लोग होना जरूरी है तभी NGO में registration करा सकते हैं।

एनजीओ में काम करने से पहले आपको एनजीओ बन कर आप क्या करेंगे यह सब फेसला करने के बाद आपको अपनी Team में कोन, उपाध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष, सलाहकार सदस्य आदि को अपने टीम मेंबर में से बना लेना है. उसके बाद ही एनजोओ मैं registration कर सकते हैं।

NGO में काम करने से पहले आपको लोगों के परेशानियों को जानना होगा उनके परेशानियों को महसूस करना होगा. अगर आप इन बातों को गौर करेंगे तो आपको पता लग जाएगा कि आप एनजीओ किस लिए बनेंगे।

आप भी समाज में रहते हैं और हम भी समाज में रहते हैं आपने देखा होगा के बहुत से लोग किसी के डर से अपनी आवाज उठा नहीं सकते हैं या फिर उनकी जो समस्या है वह लोग नहीं सुनते हैं तो ऐसे लोगों की मदद करना एक NGO member का जिम्मेदारी होता है. इसलिए एक NGO member का एक ही उद्देश्य होता है कि लाचार व्यक्ति के परेशानियों को सुनकर उनकी मदद करना।

गैर सरकारी संगठन मैं काम करने से पहले आपको team बनाना होगा आपको team में ऐसे व्यक्ति को जोड़ना है जो व्यक्ति समाज के हित के लिए काम करना चाहता हो. यानी कि ऐसे व्यक्ति को चुने जो वित्तीय प्रबंधन, मानव संसाधन, और networking कर सकता हो. और इन पर कोई भी आगे फैसला लेने से पहले हिचकिचाहट ना करें आपको ऐसे व्यक्ति की तलाश करना चाहिए।

चलिए ऊपर आपने जाना NGO Kaise Banaye, ngo full form in hindi, ngo kya hai इससे आपको काफी जानकारी मिले होगी. अब हम आपको बताते हैं NGO Kaise Banaya Jata Hai।

NGO बनने के लिए document.

दोस्तों NGO बनने के लिए आपको जरुरी document की जरूरत पड़ेगी तो चलिए आपको step by step हम आपको बताते हैं NGO बनने के लिए कौन कौन सा document लगता है।

  • Trust Deed / Memorandum of Association – ट्रस्ट डीड / मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन.
  • Rules & Regulations / Memorandum –
    नियम और विनियम / ज्ञापन.
  • Articles of Association Regulation – एसोसिएशन विनियमन के लेख.
  • affidavit from president – राष्ट्रपति से शपथ पत्र.
  • ID Proof (Voter ID / Aadhar Card) – आईडी प्रूफ (वोटर आईडी / आधार कार्ड)
  • Residence proof – निवास प्रमाण.
  • Registered Office Address Proof – पंजीकृत कार्यालय का पता प्रमाण.
  • Passport – पासपोर्ट.

एक NGO सदस्य बनने के लिए आपको ऊपर दिए गए सभी document लगेंगे इसके बाद ही आप NGO के member बन सकते हैं।

Bank account अलग बनाएं.

NGO member बनने से पहले आपको अपना bank account अलग से खुलवाना पड़ेगा. क्योंकि आप जो भी लोगों से donation लोगे वह सब पैसे आपके अलग bank account में आने चाहिए ताकि आप गरीब और असहाय लोगों की सहायता कर सकें. इसलिए NGO member का bank account अलग होना चाहिए।

ये भी पढ़ें:-

Google se paise kaise kamaye [ 2 लाख ] घर बैठे पैसे कमाएं – हिंदी।

Instagram se paise kaise kamaye [ 3 लाख ] 5 तरीके हिंदी में जानें।

NGO me Kaise Register Kare.

आप लोग ngo full form in hindi एवं ngo kya hai वाला post जब पढ़ रहे हैं तो आप भारत के ही नागरिक होंगे. इसलिए एक ngo बनने के लिए आपको तीन प्रक्रियाओं को जानना बहुत जरूरी है जिसके बाद आप फैसला ले सकते हैं कि आपको तीनों प्रक्रिया में से इस प्रक्रिया में काम करना है तो नीचे पढ़ते हैं।

1. Trust Act.

तो पहला है Trust Act यह हमारे भारत के विभिन्न राज्यों में होता है. अगर हमारे भारत के किसी राज्य में ट्रस्ट एक्ट अधिनियम नहीं है तो वहां 1882 Trust Act लागू किया जाता है। इस अधिनियम में दो Trustees होना अनिवार्य है।

इस अधिनियम के तहत कोई व्यक्ति जो एनजीओ का रजिस्ट्रेशन करवाना चाहता है तो उसे Charity Commissioner या Registrar के office मैं जाकर वहां पर आवेदन करना होगा. अब Trust Act के हिसाब से ngo में registration आपको Deed Document को लगाना पड़ेगा।

2. Society Act.

Society Act भी एक अधिनियम है और इस अधिनियम के जरिए एनजीओ में रजिस्ट्रेशन कराने में, वह रजिस्ट्रेशन Society के रूप में किया जाएगा. लेकिन कुछ राज्य में अलग है जैसे हम ले लेते हैं महाराष्ट्र, महाराष्ट्र में Society अधिनियम के अनुसार NGO को Trustee के हिसाब से Registered होगा।

अब अगर आप सोसायटी एक्ट अधिनियम में रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो आपको Memorandum Of Association And Rules And Regulation Document लगेगा. और इस Memorandum Of Association And Rules And Regulation Document को बनाने के लिए 7 सदस्यों की आवश्यकता पड़ेगी.

3. Companies Act.

अब अगर आप Companies Act के अनुसार एनजीओ में रजिस्ट्रेशन करवाना चाहते हैं तो आपको जो डॉक्यूमेंट सोसायटी एक्ट अधिनियम में बताया था वही डॉक्यूमेंट लगेगा यानी कि Memorandum And Articles Of Association And Regulation Document लगेगा।

Memorandum And Articles Of Association And Regulation Document’ को बनाने के लिए आपको बस 3 सदस्य की जरूरत पड़ेगी अब 3 सदस्य से ही इस डॉक्यूमेंट को बना सकते हैं।

भारत देश में NGO की संख्या.

  1. महाराष्ट्र- 418 लाख
  2. आंध्र प्रदेश – 416 लाख
  3. उत्तर प्रदेश- 413 लाख
  4. केरल- 313 लाख
  5. कर्नाटक- 119 लाख
  6. गुजरात-117 लाख
  7. पश्चिम बंगाल-117 लाख
  8. तमिलनाडु-114 लाख
  9. उड़ीसा-113 लाख
  10. राजस्थान-1 लाख

भारत के टॉप एनजीओ LIST.

  • Pratham.
  • Libra society.
  • Being Human.
  • Smile Foundation.
  • Sargam Sanstha.
  • sammaan Foundation.
  • Helpage India.
  • Goonj Limited.
  • Child Rights and You (Cry).
  • Give India.
  • Nanhi Kali.

NGO के लिए Fund कहाँ से मिलता है ?NGO kya hai

यह सवाल थोड़ा सा मुश्किल बना देता है कि आखिर इतना बड़ा बड़ा काम करने के लिए ngo के पास fund कहां से आते होंगे?

तो दोस्तों हमें जितना पता है कि कोई भी काम करना इतना आसान नहीं है जितना लोग समझते हैं लेकिन जिन लोगों को काम करने की जुनून और दूसरों को मदद करने का दिल रहता है वह कहीं ना कहीं से पैसे ले ही आते हैं ।

आज़ बात करते हैं कि आखिर एनजीओ के लिए फंड कौन देता होगा तो दोस्तों ऐसी बहुत कंपनियां हैं जो समाज सेवा करने के लिए एनजीओ के फंड देते है ।
आज मैं उन जरिया तक आप को ले जाऊंगी जो एनजीओ को काफी मदद करती है।

1. सामाजिक कार्यक्रम.

दोस्तों यह ऐसी कार्यक्रम है जो सभी तरह के लोगों का इकट्ठा होना उसमें आप धार्मिक कार्यक्रम का भी व्यवस्था रख सकते हैं। जिसमें महिला ,पुरुष और बच्चे सभी आते हैं और ऐसे कार्यक्रम में आप सामाजिक लोगों को भी इकट्ठा कर सकते हैं.

जैसे, डॉक्टर ,नेता ,बिजनेसमैन, शिक्षक सभी प्रकार के सामाजिक लोगों को बुलाकर आप अपने संस्था के बारे में बताएं और लोगों को बोले कि इस समाज सेवा करने के लिए आप लोगों की मदद चाहिए उन्हें अपने बातों से प्रेरित करें और फंड देने के लिए उन्हें मनाये, समझाएं कि समाज सेवा करना कितना बड़ा पुण्य होता है इसी तरह एनजीओ की फंड जमा हो जाती है ।

2. प्राइवेट कंपनी से बात करें

प्राइवेट कंपनी NGO संस्था की मदद करने के लिए सबसे आगे रहते है प्राइवेट कंपनी से बात करना चाहिए।

दोस्तों प्राइवेट कंपनी एक ऐसी कंपनी है जो सभी चीजों में अच्छी खासी मदद करने के लिए तैयार रहती है लेकिन उसके लिए आपको अपना काम अच्छा रखना होगा ।

उन्हें विश्वास दिलाना होगा कि हां आप जो भी काम कर रहे हैं वह सच और सही काम कर रहे हैं उसके लिए आपको एनजीओ संस्था की वेबसाइट होना बहुत जरूरी है ।आप चाहे तो डिजिटल मार्केटर से संपर्क करके आप अपना एनजीओ का वेबसाइट बनवा सकते हैं।

अगर आपके पास वेबसाइट है तो आप उन कंपनी के वेबसाइट पर जाकर उनका नंबर लेकर कॉल करें या ईमेल भेजकर फंड देने के लिए आग्रह करें।

3. सरकार से फंड लेना.

वैसे देखा जाए तो सरकार से फंड लेना थोड़ी मुश्किल होता है लेकिन नामुमकिन भी नहीं है। अगर आप अपना एनजीओ संस्था सरकारी रजिस्टर में बुक करवा चुके हैं तो आपके लिए कम मुश्किल हो सकता है

क्योंकि सरकार के रिकॉर्ड में आपका संस्था का नाम है तो आपको आसानी से फंड दे सकते हैं ।अगर सरकार के नियम के हिसाब से काम करते हैं तो आपको बहुत जल्दी फंड मिल जाएंगे।

तो दोस्तों आप NGO full form in hindi, NGO kya hai और इनके अलावा आपको इस पोस्ट के माध्यम से और भी जानकारी मिल गई होगी

ये भी पढ़ें:-

निष्कर्ष:-

मैं उम्मीद करता हूं आपको NGO full form in hindi, NGO kya hai के बारे में पूरी जानकारी मिली होंगी.

तो दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट NGO full form in hindi, NGO kya hai पसंद आई है तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

धन्यवाद।


Abhishek Kumar

नमस्कार, मेरा नाम अभिषेक है. और में digital marketing करता हूं. मुझे internet जैसे digital चीजों में रूचि है इसलिए ये cloudhindi.com ब्लाग बनाया. मुझे जो भी नई जानकारी मिलती है में इस blog के जरिए unique information आप लोगों को बताता हूं. हमारा information आपको पसंद आते हैं तो हमें सोशल मीडिया पर फॉलो जरूर करें।

0 Comments

Leave a Reply