नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको बताने वाले हैं Trading kya hai आज के हमारे इस पोस्ट में आपको वो सब चीजें बताने वाला हूं जिससे आपको trading की अच्छी खासी knowledge मिल जाएंगी और आसानी से पैसे कमा सकते हो. आज के समय सभी लोग ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते हैं और ऑनलाइन जल्दी कमाने के लिए बहुत से तरीके ढूंढते हैं. इंटरनेट पर ऐसे बहुत से तरीके मौजूद जिनसे आप लाखों कमा सकते हो ऐसे ही trading है आप अगर ट्रेडिंग करना जानते हो तो इसमें आप अनलिमिटेड पैसे कमा सकते हो

trading करना आप बहुत जल्द सीख सकते हो. trading सीखने के लिए आपको एक demat account की जरूरत पड़ेगी. अब आपके मन में सवाल उठता होगा आखिर demat account kya hai ?… मैं इनके बारे में भी जानकारी नीचे देने वाला हुं साथ ही जानेंगे trading kya hota hai. तो इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पढ़े हैं।

trading kya hota hai

trading kya hota hai

तो चलिए आप बात करते हैं trading kya hai. तो दोस्तों ट्रेनिंग का मतलब छोटे शब्दों में बोले तो, कोई चीज जी आप कोई सेवा को मुनाफा कमाने के लिए बेचना और खरीदना इसे trading कहते हैं।

ट्रेडिंग एक तरह का बिजनेस होता है. आपको एक उदाहरण देकर समझाता हूं मान लीजिए कि आपके मोहल्ले में कोई भाई साहब सब्जी लेकर आते हैं और वह सब्जी आपके पास बेचते हैं तो वह सब्जी उसका नहीं है वह कहीं और से खरीद कर लाया था. मान लीजिए कि सामने उसको 10 रुपए किलो दिया उसने आपको ₹15 किलो बेचा तो उस भाई साहब का ₹5 मुनाफा हुआ तो इसमें दोनों का फायदा हुआ, फायदा ये हुआ कि भाईसाहब को ज्यादा मेहनत नहीं लगी और मोहल्ले वाले को घर पर ही सब्जी मिल गई। उसी प्रकार ही stock market में ऐसे ही ऑनलाइन कई तरह के प्लेटफार्म है जहां पर आप शेयर खरीद के उसे बेच सकते हैं ज्यादा कीमत में।

हमारे आसपास के बहुत से दुकानदार trading का ही बिजनेस करके पैसे कमाते हैं. ये दुकानदार भी सब्जी वाले भाईसाहब की तरह बिजनेस करते हैं ये लोग कहीं और से सामान खरीद कर लाते हैं और उस सामान को थोड़े ज्यादा कीमत में आप लोगों के बीच बेचते हैं।

मैंने ऊपर बीच में stock market का भी नाम लिया था आप लोग सोच रहे होंगे आखिर stock market kya hai. stock market का संबंध trading से ही है तो चलिए आपको मैं नीचे विस्तार से जानकारी देता हूं।

stock market kya hai – stock market ki puri jankari ?stock market kya hai - stock market ki puri jankari ?

तो चलिए जानते हैं stock market kya hai stock market kya hai in hindi में, जैसे कि आपने अभी trading का meaning के बारे में जाना इसी प्रकार stock market का meaning भी यही है, stock market का मतलब छोटे शब्दों में बोले तो, कोई चीज जी आप कोई सेवा को मुनाफा कमाने के लिए बेचना और खरीदना इसे stock market कहते हैं।

अब हम stock market trading के बारे में विस्तार से जानेंगे.

मान लीजिए कोई कंपनी आपको शेयर दें रहीं हैं जिस समय आपको शेयर दे रहे हैं उस समय share का कीमत 10 रुपया है तो आपने उसे खरीद लिया. उस share से मुनाफा कमाने के लिए आपको मार्केट में बेचना होगा. अब आपको तब तक इंतजार करना है जब तक कि उसे share का कीमत 2-3 रुपए बढ़ जाए. अब आपने शेयर को मार्केट में ₹13 में बेचा तो आप का मुनाफा हुआ तीन रुपए. ये share का कीमत बढ़ना और घटने का समय 1 हफ्ते तक का हो सकता है इस समय के बीच आपका जब मन करे तब शेयर बेच सकते हैं.

share को आप जिस समय खरीदा है उस समय भी आप बेच सकते हैं. share market का उतार-चढ़ाव सेकंड सेकंड में होते रहता है कई लोग ऐसे मौके पर अधिक शेयर भेजते हैं और ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाते हैं. इसमें आपका नुकसान भी होता है अगर आप ठीक समय पर शेयर खरीद कर बेचते नहीं हो तो इसमें आपका भारी नुकसान हो सकता है।

stock market trading के अलग-अलग प्रकार हैं तो चली है हम उन प्रकार के बारे में ज्यादा जानते हैं।

share market trading types in hindi.

तो चलिए जानते हैं share market trading types in hindi. share market trading type 3 होते हैं जिनके नाम में नीचे बता रहा हूं।

  • Intraday Trading.
  • Positional Trading.
  • Short Term Trading या Swing Trading .

अब इन तीनों के बारे में हम एक-एक करके विस्तार से बात करेंगे।

Intraday Trading kya hai – Intraday Trading meaning in hindi. 

Intraday Trading kya hai इनके बारे में पूरी जानकारी पढ़ते हैं. Intraday Trading मैं आप जिस दिन शेयर खरीदते हो उसी दिन आपको बेचना होता है. वैसे आप सब जानते ही होंगे शेयर मार्केट में कम कीमत में शेयर को खरीदना होता है और ज्यादा कीमत में उसे दूसरे लोगों के पास बेचना होता है इसी प्रकार से Intraday Trading है. इसमें आप जिस दिन खरीदते हो उसी दिन, अगर आप मुनाफा कमाना चाहते हो तो आपको तभी बेचना होगा।

शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने वाला, शेयर को खरीद कर उसे दिन फिर भेज देता है तो वह Intraday Trading कहलाता है।

आपको पता होगा हमारे भारत के शेयर बाजार सुबह 9:15 से लेकर 3:15 तक खुला रहता है. इसी बीच अगर कोई आदमी शेयर को खरीद कर फिर इसी समय के बीच बेच देता है तो वह एक दिवसीय ट्रेडिंग कहलाता है या Intraday Trading कहलाता है।

Intraday Trading का एक ही लक्ष्य होता है कि मार्केट में जो भी अच्छी बुरी खबर आती है उस पर नजर बनाकर रखना होता है और सही मौके देखकर उसे लाभ उठा लेना होता है. इस वजह से वह तुरंत मुनाफा कमा लेता है।

Intraday Trading एक तरह से अच्छा भी है एक तरह से अच्छा नहीं भी है क्योंकि यह बहुत ज्यादा risky Trading होता है. अब क्यों यह risky Trading होता है मैं बताता हूं. देखिए जब आपने शेयर खरीदा और आपको उसी दिन बेचना है तो इसमें आपको मुनाफा भी कमाना होता है. शेयर बाजार में उतार चढ़ाव होते रहता है तो उस 1 दिन में क्या भाव रहता है शेयर मार्केट का अगर उस दिन डाउन होता है तो इसमें आपका नुकसान होता है. मैं तो साफ-साफ नहीं कह सकता कि Intraday Trading फायदेमंद होगा. अब आपकी पसंद है।

जो इस ट्रेनिंग में सफल हुए हैं और सफल होते ही जा रहे हैं उनको भी कभी-कभी नुकसान होता है. इस नुकसान के कारण Intraday Trading मैं लोग सफल नहीं हो पाते हैं। ट्रेडिंग को करने के लिए ब्रोकर ने आप को जमा किए गए पैसे से 20 गुना पैसे के शेयर खरीद सकते हो और बेच भी सकते हो.

नीचे बात करते हैं positional trading kya hota hai के बारे में

positional trading kya hai – Positional Trading meaning in hindi.

Stock marketing मैं दूसरा ट्रेडिंग आता है positional trading.

ये Trading, Intraday Trading से हटकर है. positional trading में आप जिस समय शेयर खरीदते हो उसी समय ना बेचकर अगर आप 1 सप्ताह के बीच में बेचते हो तो यह positional trading कहलाता है। ऐसा करने के लिए उस ट्रेडर को शेयर की डिलीवरी लेनी होती है और वह जितने शेयर खरीदे हैं किसी भी कीमत में तो उसका जो भी पैसा बनता है वह पैसा ब्रोकर को चुकाना पड़ता है. यह सब होने के बाद उसके 2 दिन बाद डिमैट अकाउंट में पैसे ऐड हो जाते हैं।

positional trading मैं Intraday Trading की तरह ज्यादा नुकसान नहीं होता है. इसमें नुकसान नहीं होता है ऐसा सोचे मत इसमें भी नुकसान होता है वह भी overnight risks. कई कई बार बंद मार्केट में अच्छी या कोई बुरी खबर के कारण दूसरे दिन पूरा बाजार ऊपर या कुछ कुछ शेयर जो बहुत ज्यादा ऊपर या बहुत नीचे हो जाते हैं। इस तरह के होने वाले जोखिम को Overnight Risk कहते हैं।

इस प्रकार से नुकसान Intraday Trading मैं नहीं होता है इसलिए, क्योंकि उसमें शेयर की डिलीवरी नहीं की जाती है इसलिए उसमें इस तरह के नुकसान नहीं होते हैं।

Short Term Trading kya hai – Short Term Trading meaning .Short Term Trading kya hai -

अब जो लास्ट वाला है Short Term Trading इसके बारे में बात करते हैं.

इस Trading मैं अगर आपने शेयर ख़रीदा है तो उसे आप 4 तक के बीच में बेच सकते हों यानी उस खरीदे हुए share से मुनाफा कमाने के लिए आप 4 सप्ताह के अंदर बेच सकते हैं. तो इस प्रकार के ट्रेडिंग को Short Term Trading कहते हैं

इस प्रकार के ट्रेडिंग में trader का केवल एक ही लक्ष्य होता है कि आने वाले सप्ताह में शेयर का भाव जैसे ही बढ़ें उसे बेचकर पैसे कमाने होते हैं. तो इसलिए इस ट्रेडिंग को Short Term Trading कहते हैं।

ऐसा नहीं है कि Short Term Trading में नुकसान नहीं होता, इसमें भी नुकसान होता है. इस Trading में ज्यादा नुकसान होने का खतरा नहीं होता है Intraday Trading में बहुत ज्यादा खतरा होता है।

अब हम जान गये Trading के प्रकार और उसके बारे में भी, अब बात करेंगे stock trading kaise kare.

stock trading kaise kare.

stock trading के बारे में बात करते हैं तो stock trading करने के लिए आपके पास 3 प्रकार के अकाउंट होना जरूरी है।

  • Trading Account.
  • Demat Account.
  • Bank Account.

अगर ऊपर बताए गए तीनों अकाउंट आपके पास है तो आप stock trading कर सकते हैं।

Trading Account kya hota hai in hindi.Trading Account kya hota hai in hindi.

Trading Account, Trading Account क्या है?… Trading Account वह है जिससे आप शेयर की खरीद बिक्री कर सकते हो, इसके द्वारा खरीद बिक्री का oder, Stock Exchange तक भेजा जाता है। इसलिए अगर आप कोई भी Trading, चाहें निवेशक या ट्रेडर हो़ किसी भी प्रकार का Trading करने के लिए Trading Account होना जरूरी है।

इस ट्रेडिंग अकाउंट के जरिए आप खरीद बिक्री तो कर सकते हैं हैं उसके साथ-साथ आप इससे अपने बैंक अकाउंट में पैसे भी ले सकते हैं। वही शेयर खरीदने के लिए आपको जितने पैसे लगेंगे उतने पैसे आप ट्रेडिंग अकाउंट में ऐड करके शेयर को खरीद सकते हैं. उसके बाद खरीदे गए शेयर को आप आर्डर में रख सकते हैं अब यह रखा गया ऑर्डर, स्टॉक एक्सचेंज मैं चला जाएगा. स्टॉक एक्सचेंज में बहुत से लोगों के शेयर रखें जातें हैं।

जिस शहर को आपने स्टॉक एक्सचेंज मैं दिया है वह जब बिकने के लिए तैयार हो जाएगा तब उसका शेयर आपको मिलेगा। उसके उपरांत आपके अकाउंट से पैसे काट लिए जाएंगे।

कुछ इस प्रकार से Trading Account के द्वारा शेयर खरीदा और बेचा भी जा सकता है. अब दूसरा अकाउंट की बात करते हैं जो है Demat Account, Demat Account kya hai.

Demat Account kya hai.Demat Account kya hai.

तो अब हम डिमैट अकाउंट के बारे में बात करते हैं. Demat Account एक प्रकार का स्टोरेज होता है जिसमें साड़ी इंफॉर्मेशन और जगह रहती है। इसमें वह सब जानकारी रहती है जैसे कि आपने कौन सा शेयर खरीदा कहां बेचा इस तरह की जानकारियां इसमें रखी जाती है।

यह दोनों अकाउंट डीमेट अकाउंट और Trading Account यह दोनों एक दूसरे के साथ लिंक रहती है जिसके आप शेयर खरीद और बिक्री कर सकते हो.

आपने देखा होगा कि जब आप कोई भी शेयर खरीदते हो तो उसके 2 दिन बाद, आपके द्वारा खरीदा हुआ शेयर आपके Demat Account मैं दिखाई देने लगते हैं. अब Demat Account मैं दिखाए जा रहे शेयर को आप जितना दिन रखना चाहते हो उतना दिन रख सकते हो उसके बाद आप उसे बेच भी सकते हो. अब जैसे ही आपने उस शेयर को बेचा उसके उपरांत तुरंत आपके Demat Account से वह शेयर दिखना बंद हो जाता है. और बिका हुआ शेयर के बदले आपके अकाउंट में पैसे जुट जाते हैं यह पैसे आपके ट्रेंडिंग अकाउंट में जोड़ते हैं।

ऊपर आपने थोड़ी बहुत जान गए होंगे Demat Account के बारे में तो अब चलिए जानते हैं इसमें Bank Account का क्या काम होता है।

Bank account.

जब आप शेयर को खरीदना और बेचना चाहते हैं तो उसे पहले आपके ट्रेडिंग अकाउंट में पैसे होना अनिवार्य है और पैसे ऐड करने के लिए बैंक अकाउंट की जरूरत होती है जिसके बाद आप शेयर खरीद पाते हो. इस बैंक अकाउंट के जरिए आप अपने trading Account में पैसे जमा भी कर सकते हो और ट्रेंडिंग की मदद से कमाए हुए पैसे को आप बैंक के जरिए ले सकते हो. trading Account मैं बैंक जोड़ने के लिए आपको कोई अलग से Bank account खुलवाने की जरूरत नहीं, आपके पास जो भी बैंक हो, चाहे वह पुराना ही क्यों ना हो उसे trading Account मैं जोड़ सकते हो।

अगर आपने किसी शेयर को बेचा वह शेयर मैं आपको फायदा हुआ तो वह मुनाफा वाला पैसा भी इसी बैंक अकाउंट में आएगा. अगर आप ट्रेंडिंग यादी में थे अकाउंट खुलवाना चाहते हो तो मैं आपको सलाह दूंगा कि आप एक अच्छे स्टॉकब्रोकर से ही खुलवाएं।

तो अब आगे जानते हैं, स्टॉक ब्रोकर क्या होता है – stock broker meaning in hindi.

स्टॉक ब्रोकर क्या होता है – stock broker meaning in hindi.

stock broker का काम होता है कि stock exchange के साथ मिलकर treder या कोई भी इन्वेस्टमेटं करने वाले व्यक्ति को जोड़ना होता है.यह हम जैसे लोग और stock exchange के बीच एक तरह से लॉकर की तरह होता है।

आपको शायद पता नहीं होगा stock broker दो प्रकार के होते हैं तो चलिए इन दोनों प्रकार को अच्छे से जानते हैं पहचानते हैं।

Full Service Broker.

कुछ बीते हुए गत सालों में इसी प्रकार के stock broker होता था और इस तरह के stock broker हमारे ट्रेंनिंग और डिमैट अकाउंट को खोलते थे इसे खोलने के साथ-साथ कई सुविधा प्रदान करते थे.

सुविधा कुछ इस प्रकार थे:-

  •  Online Trading का Platform ,
  • Call कर के Trading करने की सुविधा,
  • निवेश और Trading की सलाह,
  • रोज़ Contract Note भेजना
  • समय समय पर हमारे खाते का चेक करना।

तो कुछ यह सुविधाएं देती थी लेकिन इन सुविधाओं को देने के साथ-साथ वह हर ट्रेंडिंग पर निश्चित प्रतिशत Brokerage Charge लिया करता था. और यह प्रतिशत अलग-अलग ब्रोकर के लिए अलग-अलग होता है. लेकिन सामान्य रूप से यहां एक या 2% हुआ करता है। अगर यही बड़ी मात्रा में खरीदारी करता है तो यह 1% भी बहुत ज्यादा हो जाता है. और यह सुविधाएं जो आपको देते हैं इनके लिए उसे थेड़े खर्च करने पड़ते हैं.

इस तरह के ब्रोकर सब एक जैसे ही थे इसलिए इसी से अकाउंट खुलवाना होता था. लेकिन अब ऐसा नहीं होता इसलिए, क्योंकि आप डिस्काउंट ब्रोकर भी आ गया है।

अब बात करते हैं कि Discount Broker क्या है कैसे काम करता है.

Discount Broker.

Discount Broker सभी ट्रेंडिंग प्लेटफार्म में होते हैं जैसे upstox मैं वह ब्रोकर है जो आपने क्लाइंट के लिए बहुत ही कम कीमत में ब्रॉक रेंज लेते हैं और इसके बदले वो ट्रेंडिंग करने की सुविधा प्रदान करते हैं. Brokerage full service broker के Brokerage से कम है ऐसा क्यों करता है, तो ऐसा इसलिए वह करता है क्योंकि वह सभी सुविधाएं देने के साथ-साथ और बदले में ट्रेंडिंग के लिए जो जरूरी सुविधाएं होते हैं वही देते हैं।

और जो अलग-अलग सुविधा है तो उसमें से कुछ सुविधाएं के लिए तो बिल्कुल देते ही नहीं हैं और जो देते हैं उसके लिए अलग से चार्ज करते हैं. और जिस सुविधा पर वह चार्ज लगाते हैं अगर वह सुविधा की जरूरत अन्य लोगों की है तो उसके इस्तेमाल के लिए उसे पैसे देने होंगे.

और वह व्यक्ति जो आपने खुद के ज्ञान से करना चाहता है या कर रहा है उससे ज्यादा ब्रोकरेज देना ना पड़े।

इसी कारण से पिछले कुछ सालों से लोग डिस्काउंट ब्रोकर से ही अपना अकाउंट खुलवा ते हैं.

अगर इस पोस्ट में कहीं समझने में दिक्कत हुई हो और समझ में नहीं आई हो तो हमें कमेंट करें और सोशल मीडिया पर जरूर पूछें।

trading kaise sikhe.

इस वीडियो को देखने के बाद आप ट्रेडिंग के बारे में बहुत कुछ जान जाएंगे.

अपनी पसंद का पोस्ट पढ़ें:-

Email marketing कैसे करें

Job website kaise banaye

Hdfc life insurance agent kaise bane

Landing page kaise banaye – फ्री में बनाओ

referral code kaise banaye – ऐसे बनाओं।

bank se paise kaise kamaye – mini bank kaise khole

coaching classes kaise khole – अपना कोचिंग खोलो इन तरीकों से।

online coaching classes कैसे शुरू करें – पुरी जानकारी हिंदी में।

निष्कर्ष:-

दोस्तों यह जो मैंने ऊपर स्टाक ट्रेंनिंग के बारे में बताया है इसमें आपको नुकसान भी हो सकता है कृपया अपनी जिम्मेदारी से करें.

तो दोस्तों यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट में जरूर बताएं अगर कहीं कोई जवाब को लेकर प्रश्न उठता हो तो तुरंत हमसे संपर्क करें हम आपको तुरंत उसका जवाब दे देंगे. इस पोस्ट Trading kya hai

 

इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और उन्हें भी बताएं trending kaise karte hain.

 


Abhishek Kumar

नमस्कार, मेरा नाम अभिषेक है. और में digital marketing करता हूं. मुझे internet जैसे digital चीजों में रूचि है इसलिए ये cloudhindi.com ब्लाग बनाया. मुझे जो भी नई जानकारी मिलती है में इस blog के जरिए unique information आप लोगों को बताता हूं. हमारा information आपको पसंद आते हैं तो हमें सोशल मीडिया पर फॉलो जरूर करें।

0 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!